ट्राफिक जाम सहित इमरजेंसी के लिए 239 करोड़ के खर्च से नवनिर्मित कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का मुख्यमंत्री ने करवाया शुभारम्भ

roopani
वर्ष 2018-2019 के बजट पर गुजरात के मुख्यमंत्री
February 20, 2018
maninagar chetichand 2018
मणिनगर में चेटीचंड के दिन शानदार कार्यक्रम का आयोजन
February 27, 2018

ट्राफिक जाम सहित इमरजेंसी के लिए 239 करोड़ के खर्च से नवनिर्मित कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का मुख्यमंत्री ने करवाया शुभारम्भ

vijay rupani

मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने आज पालड़ी में 239 करोड़ के खर्च से नवनिर्मित ट्राफिक जाम सहित इमरजेंसी मॉनीटरिंग के लिए कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का शुभारम्भ करवाया।

स्मार्ट सिटी कार्यक्रम के तहत किए गए इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत बनवाए गए इस आधुनिक कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से पुलिस सहित कॉर्पोरेशन के विभिन्न विभागों के कार्य किए जाएंगे। इसमें ए.एम.टी.एस., बी.आर.टी.एस. और स्काडा सहित कार्यों का निरीक्षण करने के कार्य सीसीटीवी देखकर किए जाएंगे।

आग, ट्राफिक और बरसात आदि का एक ही स्थल से मॉनीटरिंग किया जा सके, ऐसा देश का यह पहला आधुनिकतम कंट्रोल रूम है। करीब 8 करोड़ की लागत से तैयार इस कंट्रोल रूम से 6000 सीसीटीवी कैमरों का निरीक्षण तथा विभागों का संचालन किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि गुजरात के छह शहर स्मार्ट सिटी बन गए हैं। स्मार्ट सिटी की भविष्य की आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर सिंचाई, पानी, यातायात आदि का नियंत्रण करने से बचत भी हो सकेगी।

एक ही स्थल से वीडियो वॉल पर सम्पूर्ण कमांड एंड कंट्रोल सम्भव हुआ है। इससे भविष्य में स्मार्ट सिटी की दिशा में आगे बढ़ा जा सकेगा।

उल्लेखनीय है कि इस आधुनिकतम कंट्रोल रूम में से शहर में आग, ट्राफिक, वर्षा आदि की परिस्थिति का निरीक्षण किया जा सकेगा। इसके लिए 27 इंच के एल.ई.डी. लगाए गए हैं।

अहमदाबाद महानगरपालिका आयुक्त श्री मुकेश कुमार ने स्लाइड शॉ द्वारा संकलन और कंट्रोल की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि शहर की भविष्य की आवश्यकता को ध्यान में रखकर समग्र सिस्टम में 30,000 जितने इनपुट पॉइंट जोड़े गए हैं। इनसे सम्बन्धित पॉइंट की रियल ताइम स्थिति को पता किया जा सकेगा।

इस अवसर पर सांसद किरीटभाई सोलंकी, विधायक राकेशभाई शाह, मेयर गौतमभाई शाह, अहमदाबाद महानगरपालिका के उच्च अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने आज कहा कि गुजरात में भविष्य में सामने आने वाली आवश्यकताओं और उनको पूर्ण किया जा सके, इसके लिए गुजरात में स्मार्ट सिटीज़ का निर्माण किया जाएगा। अहमदाबाद के पंडित दीनदयाल हॉल में आयोजित स्मार्ट सिटी कॉन्क्लेव का शुभारंभ करने के मौके पर उन्होंने कहा कि अहमदाबाद ने अपने हेरिटेज़ मूल्यों को बरकरार रखते हुए 607 वर्ष पूर्ण किए हैं। इसके साथ ही स्मार्ट सिटी बनाने की दौड़ में भी अग्रसर है।

समय के साथ कदम मिलाकर इज़ ऑफ डुइंग बिजनेस के साथ इज़ ऑफ लाइफ़ की दिशा में आगे बढ़ने की आवश्यकता बतलाते हुए उन्होंने कहा कि गुजरात में सम्पन्न लोगों से गरीब लोगों तक इज़ ऑफ लिविंग द्वारा बेहतर जीवन व्यवस्था खड़ी करनी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्मार्ट योजना द्वारा गुजरात में नयी व्यवस्था प्रस्थापित की है। इससे भारत के शहरी विकास को एक नयी दिशा मिलेगी।

गुजरात के तमाम जिला मुख्यालयों पर सीसीटीवी सर्वेलेंस सघन बनाया गया है। इसकी भूमिका में एलईडी के उपयोग पर बल देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली के खम्भों पर एलईडी लाइट्स के उपयोग से बिजली की बचत हो रही है।

गुजरात शांत और समृद्ध है। गुजरात की जनता का व्यापार के क्षेत्र में नाम है। भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात को जो उंचाइयां दी हैं, उसे बरकरार रखकर आगे बढ़ते हुए विश्व के शहरों को भी गुजरात के शहर टक्कर दे सकें, इस प्रकार की स्मार्ट सिटीज बनायी जाएंगी।

गुजरात के शहर एलईडी सुविधा वाले, वाईफाई व्यवस्था वाले और समग्र शहर में सीसीटीवी का सर्वेलेंस हों, इस तरह के होने चाहिए। ऐसी व्यवस्था करने के लिए सरकार आगे बढ़ रही है। इसमें स्थानीय स्वराज की संस्थाएं और ट्राफिक नियमन के लिए पुलिस का सहयोग भी अपेक्षित है।

गुजरात ने बीआरटीएस द्वारा मास ट्रान्सपोर्टेशन का सफल प्रयोग किया है। बीआरटीएस में जीपीएस सिस्टम और कम्युनिकेशन के साधनों द्वारा नागरिकों की सुविधा में बढ़ोतरी करने की दिशा में सरकार कार्यरत है।

गुजरात ने पीपीपी मॉडल का सफलतापूर्वक अमल किया है। इस वर्ष के बजट में 12,500 करोड़ रुपए शहरी विकास के लिए आवंटित किए गए हैं।

श्री रूपाणी ने शहरी विकास के लिए सड़क और बिजली आदि के टाइम बॉंन्ड इंफ्रास्ट्रक्चर मैनेजमेन्ट की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा बदलती टेक्नॉलॉजी के साथ कदम मिलाकर आधुनिक टेक्नॉलॉजी अपनाने की जरूरत है।

पालड़ी में तैयार किए गए कंट्रोल एंड कमांड सेंटर में होने वाले निरीक्षण कार्यों की उन्होंने जानकारी दी। उन्होंने इस कार्यक्रम में ए.एम.टी.एस. की इलैक्ट्रॉनिक टिकटिंग मशीन सिस्टम को लॉन्च किया और तीन बेस्ट स्टार्ट अप कम्पनियों को सम्मानित किया। श्री रूपाणी ने बी.डब्ल्यु. स्मार्ट सिटीज़ मैगजीन का विमोचन भी किया।

इस अवसर पर अहमदाबाद के मेयर श्री गौतमभाई शाह, मनपा आयुक्त मुकेश कुमार, अहमदाबाद स्मार्ट सिटी के सीईओ राकेश शंकर, स्मार्ट सिटी कॉन्क्लेव पैनल के सदस्य आरके. जोशी, विजयसिंह शेखावत, अमित वाधवाणी, वर्षा गांगुली और कई नागरिक उपस्थित थे।

Comments are closed.

%d bloggers like this: