वर्ष 2018-2019 के बजट पर गुजरात के मुख्यमंत्री

what is death
क्या हैं मृत्यु और क्या होता हैं हमारी मृत्यु के समय
February 19, 2018
vijay rupani
ट्राफिक जाम सहित इमरजेंसी के लिए 239 करोड़ के खर्च से नवनिर्मित कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का मुख्यमंत्री ने करवाया शुभारम्भ
February 23, 2018

वर्ष 2018-2019 के बजट पर गुजरात के मुख्यमंत्री

roopani

वर्ष 2018-2019 का गुजरात बजट

  • मुख्यमंत्री अमृतम- मा वात्सल्यम योजना में स्वास्थ्य रक्षा की राशि में बढ़ोतरी कर सरकार गंभीर और जानलेवा बीमारियों में बेसहारों का सहारा बनी है
  • युवा, किसान, ग्रामीण क्षेत्र, महिला शक्ति, पीड़ित एवं शोषित वर्गों के उत्थान के लिए अनेक पहलें की गई हैं
  • मुख्यमंत्री ग्रामोदय योजना से ग्रामीण श्रमिकों को नए अवसर- किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण
  • बेस्ट डेस्टीनेशन फॉर इन्वेस्टमेंट एवं लैंड ऑफ अपॉर्चुनिटी गुजरात तमाम क्षेत्रों के सम्यक एवं सर्वांगीण विकास प्रावधान से सामाजिक समरसता के बजट वाला राज्य बना
  • बजट में १,८३,६६६ करोड़ की भारी रकम की व्यवस्था राज्य के विकास को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाएगी
    ……………………

मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने आज विधानसभा में प्रस्तुत बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राज्य के २०१८-१९ के बजट को जनता द्वारा सरकार पर रखे गए भरोसे के प्रतिबिंब समान जनहितकारी बजट करार दिया। उप मुख्यमंत्री श्री नितिनभाई पटेल द्वारा आज प्रस्तुत बजट को उन्होंने लोक कल्याणकारी, सार्वत्रिक विकासलक्ष्यी एवं सामाजिक समरसता प्रतिपादित करने वाला बजट बतलाया।
मुख्यमंत्री ने इस बजट में की गई १,८३,६६६ करोड़ की भारी रकम की व्यवस्था सभी विभागों और क्षेत्रों के विकास को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाएगी, ऐसा विश्वास व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि किसान, गांव, युवा शक्ति को रोजगार, शहरों का विकास, पीड़ित-शोषित वर्गों का कल्याण, अनुसूचित जाति-जनजाति, वरिष्ठ नागरिकों और महिला एवं बाल कल्याण सहित तमाम क्षेत्रों के लिए भारी राशि की व्यवस्था करके प्रत्येक व्यक्ति के लिए कोई न कोई उपहार लेकर यह बजट आया है।

श्री रूपाणी ने कहा कि भूतकाल में १८ प्रतिशत जितना ब्याज भरने वाले किसानों की चिंता कर उनका ख्याल रखते हुए शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध करवाने की पहल इस बजट में की गई है और इसके लिए ५०० करोड़ का आवंटन भी किया गया है। इसके साथ ही फसल बीमा के लिए ११०० करोड़ रुपये, समर्थन मूल्य पर खरीद, ट्रैक्टर और आधुनिक साधनों के साथ ही औजारों के लिए २३५ करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।
किसानों को पर्याप्त बिजली, पानी और खाद सहित अनेक प्राथमिक सुविधा, फसल को नील गाय और जंगली सूअरों से बचाने वाली कंटीली तार की बाड़ के लिए २०० करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है, जो वास्तव में सराहनीय है।
उन्होंने कहा कि राज्य की युवा शक्ति को अवसर प्रदान कर युवाओं द्वारा नया गुजरात- नया भारत के स्वप्न को साकार करने के लिए सरकार अनेक नई पहलरूपी योजनाओं की घोषणा बजट में की गई है।
मुख्यमंत्री अप्रेंटिस योजना के अंतर्गत १५०० से ३००० रुपये की मासिक प्रोत्साहक राशि प्रदान करने के साथ ही रोजगार मेलों द्वारा ४ लाख युवाओं को रोजगार और सरकारी विभागों में ३० हजार नई भर्ती करने का भी प्रावधान किया गया है।
उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र के कुशल- अर्धकुशल श्रमिकों के व्यवसायों को प्रोत्साहन देने के लिए मुख्यमंत्री ग्रामोदय योजना के लिए प्रावधान, युवा स्किल डेवलपमेंट के लिए स्टार्टअप- स्टैंडअप, इन्क्यूबेटर, आई-क्रिएट और सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की व्यवस्थाओं का स्वागत किया।

मुख्यमंत्री अमृतम- मा वात्सल्यम योजना के अंतर्गत लाभार्थी की आय सीमा २ लाख से बढ़ाकर ३ लाख करने, सीनियर सीटीजन्स को भी इसमें शामिल करने और गंभीर तथा जानलेवा बीमारियों के उपचार में सहारा बनकर सरकार ने अपनी जनहितकारी प्रतिबद्धता को व्यक्त किया है।

मुख्यमंत्री ने इस बजट को सर्वपोषक, सर्वसमावेशक और जनउपयोगी बजट करार देते हुए कहा कि नर्मदा योजना, शहरी विकास, स्मार्ट सिटीज, सौनी योजना, डिजिटल गुजरात, साइबर क्राइम प्रिवेन्शन सहित तमाम क्षेत्रों को जोड़ने वाला विशाल हितकारी बजट बतलाया।

उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि इस बजट में सभी क्षेत्रों के लिए आवंटित धन से गुजरात के विकास को नई रफ्तार मिलेगी। उन्होंने कहा कि गुजरात बेस्ट डेस्टीनेशन फॉर इन्वेस्टमेंट एवं लैंड ऑफ अपॉर्चुनिटीज तो था ही, अब इस बजट में राज्य के प्रत्येक क्षेत्र को शामिल करके यह राज्य सामाजिक समरसता का राज्य बना है। उन्होंने इस शानदार बजट के लिए उप मुख्यमंत्री-वित्त मंत्री श्री नितिनभाई पटेल को शुभकामनाएं दी।

Comments are closed.

%d bloggers like this: