मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने जूनागढ़ गिरनार – महाशिवरात्री मेले को मिनी कुम्भ घोषित किया

Priya Prakash New Video Gun shot Flirting
प्रिया प्रकाश का न्यू विडियो
February 13, 2018
sindhi samuh lagan
अहमदाबाद मैं सिन्धी समाज द्वारा समहू लगन का सफलतापूर्वक आयोजन
February 16, 2018

मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने जूनागढ़ गिरनार – महाशिवरात्री मेले को मिनी कुम्भ घोषित किया

jungadah girnar mini kumbh

गिरनार डवलपमेंट अथॉरिटी का गठन कर गिरनार 

क्षेत्र का सर्वांगीण विकास किया जाएगा: मुख्यमंत्री

…………………… 

गिरनार की सीढ़ियों का भी किया जाएगा जीर्णोद्धार

…………………… 

पौराणिक और भक्तिमय महाशिवरात्री मेले में 

दिगम्बर साधुओं की शाही रवेडी के दर्शन किये

…………………… 

 मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने आज जूनागढ़ गिरनार में यहां की तलहटी में भरने वाले महाशिवरात्री मेले को मिनी कुम्भ घोषित किया। जूनागढ़ की गिरनार तलहटी के पौराणिक और परम्परागत महाशिवरात्री मेले में आज श्री विजय रूपाणी ने भवनाथ महादेव के दर्शन किए और साथ ही महाशिवरात्री मेले में दिगम्बर साधुओं की शाही रवेडी के दर्शन किए। मेले के इतिहास में दिगम्बर साधुओं की शाही रवेडी के दर्शन करने वाले वह प्रथम मुख्यमंत्री हैं।

शिवजी के दर्शन और आराधना करने पहुंचे श्री रूपाणी ने यहां पांच लाख से ज्यादा भक्तों का अभिवादन स्वीकार किया और भारती आश्रम पहुंचे जहां उनका स्वागत- सत्कार किया गया।

मुख्यमंत्री ने यहां कहा कि 33 करोड़ देवी- देवताओं के बिराजमान होने के कारण इस स्थल के प्रति भक्तों में बहुत श्रद्धा है। इसे ध्यान में रखते हुए गिरनार क्षेत्र का सर्वांगीण विकास किया जाएगा और इसके लिए गिरनार डवलपमेंट अथॉरिटी का गठन किया जाएगा। उन्होंने साधु- संतों और नागरिकों की भावनाओं को सम्मान देते हुए बरसों पुरानी गिरनार की तमाम सीढ़ियों की मरम्मत और जीर्णोद्धार करवाने की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि जूनागढ़ और गिरनार के तीर्थ स्थलों के विकास के लिए गुजरात सरकार जरूरत के मुताबिक तमाम सुविधाएं उपलब्ध करवाएगी।

तलहटी स्थित श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा की बरसों पुरानी जमीन का नियमन करने सम्बन्धी आदेश की कॉपी भी उन्होंने अखाड़े के संतों को प्रदान की। तलहटी स्थित भारती आश्रम में आयोजित इस कार्यक्रम में श्री रूपाणी ने कहा कि महाशिवरात्री का मतलब है जीव का शिव के साथ मिलन और इसलिए ही करोड़ों श्रद्धालु इस मेले में आते हैं। गिरनारी महाराज, भगवान गुरुदत्त और भवनाथ दादा भी गुजरात की उन्नति का आशीर्वाद देंगे, यह प्रार्थना मुख्यमंत्री ने की और सबका आशीर्वाद मांगा।

महामंडलेश्वर भारती बापु ने मुख्यमंत्री का स्वर्णकोटेड रूद्राक्ष की माला, तलवार और मोमेंटो अर्पण कर स्वागत किया। बापुजी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री विजयभाई पहली बार महाशिवरात्री के मेले में आए हैं और रवेडी के दर्शन करने वाले प्रथम मुख्यमंत्री बने हैं। वर्ष 2008 में तत्कालीन मुख्यमंत्री और वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी महाशिवरात्री के मेले में आए थे।

भवनाथ मन्दिर के महंत श्री हरिगिरी महाराज ने प्रासंगिक आशीर्वचन दिए और गिरनार के विकास की कई घोषणाएं करने के लिए इनका स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री का आभार जताया।

इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने भवनाथ मन्दिर के दर्शन किए और इसके अन्नक्षेत्र का भी जायजा लिया, जहां महंत श्री नरेन्द्र बापु और अन्य संतों- महंतों ने उनका स्वागत किया। बाद में गोरक्षनाथ आश्रम पहुंचकर मुख्यमंत्री ने अन्नक्षेत्र- भोजनालय के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया। आश्रम में महंत श्री शेरनाथ बापु ने उनका सत्कार किया।

भारती आश्रम के कार्यक्रम में संत श्री मोरारीबापु, गोरधनभाई झड़फिया, श्रीमती अंजलिबेन रूपाणी, मेयर श्रीमती आद्यशक्तिबेन मजूमदार, प्रदेश भाजपा नेता नितिनभाई भारद्वाज, पूर्व विधायक महेन्द्र मशरु, श्री हरिनन्दन भारती महाराज, श्री हरिगिरी बापु, महादेवगिरी बापु, अवधेशानन्द भारती बापु और कई संत- महंतों के साथ नागरिक भारी संख्या में उपस्थित थे।

 

Comments are closed.

%d bloggers like this: