मुख्यमंत्री ने किया 108 इमरजेंसी सेवा मोबाइल एप का लॉन्चिंग

राज्य सरकार के १८ बोर्ड-निगमों के अध्यक्ष एवं सदस्यों की मुख्यमंत्री ने की नियुक्ति
October 23, 2017
nitin
आशा वर्कर को प्रोत्साहक रकम में ५० फीसदी की बढ़ोतरीः उप मुख्यमंत्री
October 25, 2017

मुख्यमंत्री ने किया 108 इमरजेंसी सेवा मोबाइल एप का लॉन्चिंग

108 mobile app

• मदद मांगने वाले व्यक्ति की जानकारी- घटनास्थल की जानकारी नजदीक में उपलब्ध 108 इमरजेंसी एम्बुलेंस में से मिल जाएगी

• प्लेटिनम मिनिट्स में जानकारियां हासिल करने और संवाद के समय में बचत होगी, सेवा तेज बनेगी

• स्मार्टफोन धारक 108 गुजरात एप निशुल्क डाउनलोड कर सकते हैं

…………….

मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने आज 108 इमरजेंसी सेवाओं की नयी टेक्नोलॉजीयुक्त अभिगम 108 मोबाइल एप का गांधीनगर में लॉन्चिंग किया।

इस मोबाइल एप के कार्यरत होने से 108 की सहायता मांगने वाले व्यक्ति की जानकारी लेट लॉंग द्वारा घटनास्थल की जानकारी नजदीकी 108 एम्बुलेंस सेवा में उपलब्ध होने से समय की बचत होगी।

सेंस, रीच, केर और 48 घंटे फॉलोअप के सम्पूर्ण संवेदनशील अभिगम के कारण आपातकाल में मानव जीवन की रक्षा होगी और तत्काल उपचार उपलब्ध हो सकेगा।

मुख्यमंत्री द्वारा लॉन्च की गई यह एप स्मार्ट फोनधारक प्लेस्टोर में जाकर 108 gujarat एप्लिकेशन निशुल्क डाउनलोड कर सकेंगे।

इस 108 मोबाइल एप में देश में सर्वप्रथम ऐसी विशेषता विकसित की गई है कि 108 की सहायता मांगने वाला व्यक्ति भी अपने फोन में एम्बुलेंस ट्रेकिंग अर्थात उस तक पहुंचने की दूरी, समय और रूट के लाइव मैप की जानकारी हासिल कर सकेगा। इस मोबाइल एप में प्रथम बार रजिस्ट्रेशन के लिए जरूरी प्राथमिक जानकारी भरने के बाद जब चाहें तब आपातकाल की स्थिति में 108 बटन दबाने से इमरजेंसी रिस्पॉन्स सेंटर में स्थल की जानकारी मिल जाएगी जिसके कारण प्लेटिनम मिनिट्स में घटना स्थल की जानकारी और संवाद के समय में भी बचत होगी।



इस एप्लिकेशन में टचस्क्रीन पर मानव शरीर के चित्र में व्यक्ति के जिस अंग में दर्द या अन्य कोई तकलीफ हो तो उसकी प्राथमिक जानकारी मिल जाएगी। साथ ही नजदीकी स्थल पर उपलब्ध सेवाओं की जानकारी, अस्पताल और डॉक्टरी सेवा की जानकारी भी मिल सकेगी।

मुख्यमंत्री ने इस 108 मोबाइल लॉन्चिंग के बाद नजदीकी स्थल पर मौजूद 108 एम्बुलेंस सेवा के पायलट के साथ संवाद करके लाइव डेमोंस्ट्रेशन भी निहारा।

यहां यह उल्लेखनीय है कि राज्य में वर्तमान 585 एम्बुलेंस द्वारा 1 लाख 96 हजार वर्ग किलोमीटर क्षेत्र को शामिल करते हुए 6 करोड़ से ज्यादा नागरिकों को सेवाएं प्रदान की जा रही हैं।

GVK EMRI 108 के चीफ एक्जीक्युटिव ऑफिसर श्री जशवंत प्रजापति ने एप का प्रजेंटेशन किया।

श्री रूपाणी ने इस नवीनतम संवेदनशील अभिगम प्रस्तुत करने के स्वास्थ्य विभाग और 108 इमरजेंसी सेवाओं के संयुक्त प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि 108 सेवाएं मात्र फोन नम्बर नहीं बल्कि जीवनरेखा बन रही है।

इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके. परमार, स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. श्रीमती जयंती रवि, मुख्यमंत्री के सचिव श्री अश्विनी कुमार, EMRI के अधिकारी, सूचना निदेशक श्री नलिन उपाध्याय आदि उपस्थित थे।

For Androidhttps://play.google.com/store/apps/details?id=com.techm.citizeanappguj&hl=en

Comments are closed.

%d bloggers like this: